स्मार्ट सिंचाई व्यवस्था भविष्य की आवश्यकता क्यों है

पानी भारत के दुर्लभ संसाधनों में से एक है, पानी की लगातार बढ़ती कमी को देखते हुए, समय आ गया है कि हम इसका बुद्धिमानी से उपयोग करें। सटीक सिंचाई और नवीन तकनीक जो पानी का बुद्धिमानी से उपयोग करती है और किसानों को न्यूनतम पानी के साथ उच्च स्तर की फसल उपज प्राप्त करने में मदद करती है। इन्हीं नवीनतम तकनीकों में से एक तकनीक है वी.के रेन इरिगेशन सिस्टम (Rain pipe), जिसके निर्माता वी.के पैक वेल  प्राइवेट लिमिटेड है|  वी.के पैक वेल प्राइवेट लिमिटेड भारत में अग्रणी कृषि समाधान प्रदाताओं में से एक है |

जल-उपयोग दक्षता

भारतीय कृषि अभी भी विभिन्न खतरों से जूझ रही है, जैसे भूजल की कमी, पानी की निकासी, सूखा, असामान्य या जल भंडार तक पहुंचने में असमर्थ। या  अचानक भारी बारिश, वी.के. रेन पाइप सिंचाई प्रणाली (Rain pipe) इनमें से अधिकांश चिंताओं से निपटने के लिए एक उपयुक्त समाधान के रूप में काम करती है।

खाद्य सुरक्षा

2050 तक दुनिया की  मांग को पूरा करने के लिए अपने खाद्य उत्पादन को दोगुना करने की आवश्यकता होगी जिसका अर्थ है कि उत्पादकों को पानी और कृषि योग्य भूमि की दोगुनी मात्रा की आवश्यकता होगी लेकिन दोनों संसाधनों की उपलब्धता में पहले से ही तेजी से गिरावट आ रही है , इसलिए उत्पादकों को एक समाधान की आवश्यकता है | इस मुसीबत से बचने के लिए हमें नवीनतम सिंचाई प्रणालियों की तरफ रुख करना पड़ेगा | नवीनतम सिंचाई प्राणियों की श्रंखला में “वी.के रेन इरीगेशन”(rain pipe)  सिस्टम सबसे अत्याधुनिक सिंचाई प्रणाली है | यह सिंचाई प्रणाली ना केवल वर्तमान की समस्याओं में उपयोगी  है बल्कि भविष्य में आने वाली समस्याओं में भी उतनी ही उपयोगी  है

फर्टिगेशन

वी.के रेन  इरिगेशन सिस्टम ना केवल पौधों को समान रूप से पानी पहुंचाने बल्कि उन्हें समान रूप से उर्वरक पहुंचाने में भी सक्षम है | जो की फसलों और पौधों के विकास के लिए बहुत ही लाभदायक है |

उर्वरको की कार्य दक्षता विभिन्न प्रकार से उर्वरक देने की विधि में

पौषक तत्वों उर्वरको की कार्य दक्षता (% प्रतिशत में)
उर्वरक सीधे मिट्टी में देना उर्वरक फर्टिगेशन से देना  
नाइट्रोजन (N) 30-50 95
फॉस्फोरस (P) 20 45
पोटैशियम  (K) 50 80